बांकुड़ा: सोमवार को विश्व प्रतिबंधी दिवस के अवसर पर बांकुड़ा शारीरिक प्रतिबंधी कल्याण समिति के हजारों सदस्य अपनी मांगों को लेकर रास्ते पर उतरे। संगठन के सदस्यों ने बांकुड़ा शहर में अपने मांगों के समर्थन में जूलुस निकाला। जूलुस जिला शासक के दफ्तर के सामने खत्म होने के बाद समिति के कुछ प्रतिनिधियों ने डीएम को अपना मांग पत्र सौंपा।

समिति के सदस्यों के अनुसार इस राज्य में प्रतिबंधी सभी तरह की सुविधाओं एवं अवसरों से वंचित हैं। इसी कारण वे २२ सूत्रीय मांगोंको लेकर रास्ते पर उतरे हैं।इस दिन डीएम को दिए डेपुटेशन में राज्य प्रतिबंधी एकता मंच के सभापति सनत महन्त न कहा कि एम.एस.के नियोग के लिए शारीरिक प्रतिबंधी आवेदन नहीं कर सकते।

प्राथमिक विद्यालय के लिए जो तीन प्रतिशत आरक्षण उनके लिए है,उन पर भी उनका नियोग नहीं होता। डीजिटल राशन कार्ड, स्वास्थ साथी परियोजना, सौ दिन के काम की परियोजना से भी वह वंचित हैं। घर-घर शौचालय निर्माण कार्य हो रहे हैं पर प्रतिबंधियो को इसका फायदा नहीं मिल रहा है। संगठन की ओर से बताया गया कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो फरवरी महीने में कलकत्ता में रानी रासमनी रोड पर वह लोग आमरण-अनशन शुरू करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here